Research

शोध क्षेत्र

भारतीय परम्पराओं और संस्कृति के संरक्षण के सन्दर्भ हिंदी विभाग की शोध दृष्टि को समझने के लिए कुछ प्रमुख शोध क्षेत्रों का विवरण निम्न प्रकार से है, जिनके विषयों/उपविषयों पर विभाग में नियमित शोध हुए हैं.

  • काव्यशास्त्र ( वक्रोक्ति, रस, ध्वनि,अलंकार, औचित्य आदि सिद्धांत)\
  • साहित्य और आयुर्विज्ञान
  • साहित्य और ज्योतिष
  • संत साहित्य
  • बोलियों का तुलनात्मक अध्ययन
  • पत्रकारिता
  • भाषा और कंप्यूटर

हिंदी पत्रकारिता विषयक

शोध प्रबंध का शीर्षक शोध छात्र/छात्रा शोध निर्देशक वर्ष
कन्हैयालाल नंदन का हिंदी पत्रकारिता को योगदान नमिता बधवार प्रो. संत राम वैश्य 2016
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम और समाज सुधार के क्षेत्र में हरिद्वार की हिंदी पत्रकारिता का योगदान प्रविन्द्र कुमार प्रो. भगवान देव पाण्डेय 2011
उत्तराखंड राज्य निर्माण आन्दोलन में हिंदी पत्रकारिता का योगदान निशा यादव डॉ. कमलकान्त बुधकर 2011
हंस का हिंदी पत्रकारिता को अवदान (1586-2006 तक) कु. एकता त्यागी डॉ. मृदुल जोशी 2010
हिंदी पत्रकारिता में रविवार पत्रिका का योगदान कु. भावना देवी डॉ. कमलकान्त बुधकर 2009
हिंदी पत्रकारिता को कमलेश्वर का योगदान मनोज कुमार डॉ. कमलकान्त बुधकर 2009
हिंदी की आध्यात्मिक पत्रकारिता में अखंड ज्योति अंजली सिंह प्रो. भगवान देव पाण्डेय 2006
उत्तराखंड के कुम्भ क्षेत्र की पत्रकारिता अमृता डॉ.कमलकान्त बुधकर 2006
स्वातंत्र्योत्तर हिंदी की दैनिक पत्रकारिता में युगीन चेतना श्रीमती पुष्पलता पूर्णिमा प्रो. भगवान देव पाण्डेय 1998
हिंदी पत्रकारिता के विकास में स्वामी श्रद्धानंद का योगदान सुभाष चंद भाटी प्रो. संत राम वैश्य 1997

 

  • आर्य समाज और हिंदी विषयक
शोध प्रबंध का शीर्षक शोध छात्र/छात्रा शोध निर्देशक वर्ष
भारतेन्दु युगीन साहित्य पर आर्य समाज का प्रभाव वीरमती प्रो. भगवान देव पाण्डेय 2010
युग निर्माण में हिंदी पत्रकारिता की भूमिका नरेंद्र प्रताप प्रो. भगवान देव पाण्डेय 2008
महर्षि दयानंद के हिंदी गद्य का भाषा एवं शैलीगत अध्ययन रीना रानी प्रो. संत राम वैश्य 2007
स्वामी श्रद्धानंद की हिंदी रचनाओं का भाषा एवं शैलीगत अध्ययन विवेक कुमार प्रो. ज्ञान चंद रावल 2005
आर्य समाज की नारी विषयक परिकल्पना एवं प्रसाद साहित्य में नारी बद्री नारायण उपाध्याय प्रो. भगवान देव पाण्डेय 2002
हरियाणा के लोकगीतों पर आर्य समाज का प्रभाव यशवीर सिंह प्रो. ज्ञान चंद रावल 2001
हिंदी में आर्य समाज की विज्ञान पत्रकारिता संजय वर्मा प्रो. विष्णुदत्त राकेश 1998
मैथलीशरण गुप्त और आर्य समाज नरेंद्र कुमार शर्मा प्रो. विष्णुदत्त राकेश 1990
महर्षि दयानंद के जीवनपरक महाकाव्यों का हिंदी में अनुशीलन सच्चिदानन्द आर्य प्रो. विष्णुदत्त राकेश 1995
भारतेन्दु कालीन हिंदी साहित्य पर आर्य समाज का प्रभाव वेदव्रत विद्यालंकार प्रो. विष्णुदत्त राकेश 1994
प्रेमचंद साहित्य पर आर्य समाज का प्रभाव सुरेन्द्र सिंह डॉ.प्रेम प्रकाश रस्तोगी 1979

 

  • कंप्यूटर और हिंदी विषयक:
कम्प्यूटरीकृत अनुवादार्थ हिंदी और अंग्रेजी का व्यतिरेकी व्याकरण रीना रानी प्रो. संत राम वैश्य 2007

Admission Query